Monday, October 31, 2011

जीवन में रंग

इतना रक्त बहा
मिट्टी का रंग लाल है

हमारे घर / सफेदी का लिबास ओढ़े
छिपाते हैं रंग
होते रहते हैं बदरंग
फेंकती रहती है पानी के छींटे
खेलती मानव से प्रकृति

वैसे तो सारे रंग मिलते हैं
खोज लिया आखिर शिशु ने
माँ की छाती में कहीं न कहीं
मिट्टी सफेद
और जाना / लाल रंग
होता है / अंदर ही अच्छा
हरा / भर जाता है हर घाव
आसमान नीला / नीली झीलें
पीला बसंत
मटमैली कर देती है वर्षा
और हवा भी रंग जाती है
कभी कभी

काले बादल
जब छुपाते चाँद
एक प्यार की अंगुली
बादलों को समझाती-सुलझाती
दिखलाती है जरा सी झलक
नीलम नयन की
लाल लाल रंगों के बीच
खिल उठते मोती सफेद
इसी क्षण ने
दोहराया होगा आदमी को
बिखरा लो / फैला दो इस रंग को
अपने नीड़ के अन्दर बाहर

सही रंगों का सही ज़गह होना
ज़रूरत है जीवन की
सही रंगों को सही ज़गह रखना
इबादत है जीवन की

हर कालजयी संस्कृति और सभ्यता के
नीचे बहती है एक काली नदी
खून की
एक न एक दिन
होयेगी सारी मिट्टी सफेद
जब भविष्य धो सकेगा
बहा सारा लहू इतिहास का

तब कोई नहीं छिपायेगा मुँह
न ही लटकायेगा मुखौटे
अन्दर-बाहर / घर-दुकान
रंगने के काम से भी
मुक्त हो जायेगा आदमी

तब भी क्या नहीं लगेंगे रंग ज़रूरी
न ही होगी चाह मन में
सिहरन का स्वाद दोहराने की
क्या अप्रासंगिक हो जायेगा प्यार
क्या अनावश्यक हो जायेगा अपनापन
रंगों का बाँध बना
क्या रंगों को बाँध लेगा आदमी
क्या रंगों को बाँट लेगा आदमी?

नहीं! इतनी सामर्थ्‍य मत देना कभी
माँ की छाती पर घूमता शिशु
रहे खेलता / हँसता / रोता
जागता / सोता / सपनों में विचरता
यही तो है जीवन की आत्मा
जीवन का अमरत्व
और निरन्तर अमृत-मंथन

सभ्यता के कलेवर
बदले हैं / सदियों में समय ने
आत्मा तक को पहुँची है ठेस
रंग मरहम हैं
जीवन है तब तक
जब तक हैं
जीवन में रंग

अशोक सिंघई 
समुद्र चॉंद और मैं कविता संग्रह से ...

No comments:

Post a Comment

हमारा यह प्रयास यदि सार्थक है तो हमें टिप्‍पणियों के द्वारा अवश्‍य अवगत करावें, किसी भी प्रकार के सुधार संबंधी सुझाव व आलोचनाओं का हम स्‍वागत करते हैं .....

लेखक

अशोक सिंघई (31) कविता संग्रह (31) समुद्र चॉंद और मैं (30) कहानी संग्रह (12) आदिम लोक जीवन (8) लोक कला व थियेटर (8) Habib Tanvir (7) उपन्‍यास (5) गजानन माधव मुक्तिबोध (5) छत्‍तीसगढ़ (5) नेमीचंद्र जैन (5) रमेश चंद्र महरोत्रा (5) रमेश चंद्र मेहरोत्रा (5) पदुमलाल पुन्‍नालाल बख्‍शी (4) वेरियर एल्विन (4) व्‍यंग्‍य (4) गिरीश पंकज (3) जया जादवानी (3) विनोद कुमार शुक्‍ल (3) अजीत जोगी (2) अवधि (2) अवधी (2) गुलशेर अहमद 'शानी' (2) जमुना प्रसाद कसार (2) डॉ. परदेशीराम वर्मा (2) डॉ.परदेशीराम वर्मा (2) परितोष चक्रवर्ती (2) माधवराव सप्रे (2) मेहरून्निशा परवेज़ (2) संस्‍मरण (2) W. V. Grigson (1) अनिल किशोर सिन्‍हा (1) अपर्णा आनंद (1) आशारानी व्‍होरा (1) कैलाश बनवासी (1) चंद्रकांत देवताले (1) चम्पेश्वर गोस्वामी (1) जय प्रकाश मानस (1) डॉ. भगवतीशरण मिश्र (1) डॉ.हिमाशु द्विेदी (1) दलित विमर्श (1) देवीप्रसाद वर्मा (1) नन्दिता शर्मा (1) नन्‍दकिशोर तिवारी (1) नलिनी श्रीवास्‍तव (1) नारी (1) पं. लखनलाल मिश्र (1) मदन मोहन उपाध्‍याय (1) महावीर अग्रवाल (1) महाश्‍वेता देवी (1) रमेश गजानन मुक्तिबोध (1) रमेश नैयर (1) राकेश कुमार तिवारी (1) राजनारायण मिश्र (1) ललित सुरजन (1) विनोद वर्मा (1) विश्‍व (1) शकुन्‍तला वर्मा (1) श्‍याम सुन्‍दर दुबे (1) संजीव खुदशाह (1) संतोष कुमार शुक्‍ल (1) सतीश जायसवाल (1) सुरेश ऋतुपर्ण (1) हर्ष मन्‍दर (1)

संबंधित संग्रह