Thursday, October 27, 2011

आबू की बेटियाँ

दयार्द्र लगीं मुझे बहुत ही
आबू पर्वत की ऋंखलायें
हरी-भरीं
स्थिर पहाड़ों पर दौड़तीं
जल-धारायें

ढॅक लेते उतरते / उतराते बादल
और बादलों पर पैर रखता मैं
तत्काल जान जाता कि
कितने खोखले होते हैं
ऊपर बहने वाले
गरजने और बरसने वाले
जीवन देने का दावा करते
श्वेत-कपसीले बादल

फक्क सफेद-सफेद धुँध से
नहीं ढॅकते सिर्फ आबू पर्वत के शीर्ष
ढॅकी रहती है
प्रकृति-रूपा सभी और सब कुछ

अमूमन धरती पर
कुछ भी नहीं होता सफेद
श्वेत दैवीयता के लक्षणों में चिन्हित है
श्वेत पंकज, श्वेत हंस और शुचिता

मुझे दिख जाती हैं
आबू पर्वत की बेटियों की हथेलियाँ
श्रम के स्वेद से धुलती हथेलियाँ
और मैं तय नहीं कर पाता
कि धुँध ज्यादा सफेद है
आश्रम-कुमारियों के वस्त्र / कुछ अजन्मे स्वप्न
या फिर आबू पर्वत की बेटियों की हथेलियाँ

हाँ! मैं तयशुदा जानता हूँ कि
कौन सी सफेदी
सबसे अधिक है
निश्छल और पवित्र

लेखक

अशोक सिंघई (31) कविता संग्रह (31) समुद्र चॉंद और मैं (30) कहानी संग्रह (12) आदिम लोक जीवन (8) लोक कला व थियेटर (8) Habib Tanvir (7) उपन्‍यास (5) गजानन माधव मुक्तिबोध (5) छत्‍तीसगढ़ (5) नेमीचंद्र जैन (5) रमेश चंद्र महरोत्रा (5) रमेश चंद्र मेहरोत्रा (5) व्‍यंग्‍य (5) पदुमलाल पुन्‍नालाल बख्‍शी (4) वेरियर एल्विन (4) गिरीश पंकज (3) जया जादवानी (3) विनोद कुमार शुक्‍ल (3) अजीत जोगी (2) अवधि (2) अवधी (2) गुलशेर अहमद 'शानी' (2) जमुना प्रसाद कसार (2) डॉ. परदेशीराम वर्मा (2) डॉ.परदेशीराम वर्मा (2) परितोष चक्रवर्ती (2) माधवराव सप्रे (2) मेहरून्निशा परवेज़ (2) संस्‍मरण (2) W. V. Grigson (1) अनिल किशोर सिन्‍हा (1) अपर्णा आनंद (1) आशारानी व्‍होरा (1) कुबेर (1) कैलाश बनवासी (1) चंद्रकांत देवताले (1) चम्पेश्वर गोस्वामी (1) जय प्रकाश मानस (1) डॉ. भगवतीशरण मिश्र (1) डॉ.हिमाशु द्विेदी (1) दलित विमर्श (1) देवीप्रसाद वर्मा (1) नन्दिता शर्मा (1) नन्‍दकिशोर तिवारी (1) नलिनी श्रीवास्‍तव (1) नारी (1) पं. लखनलाल मिश्र (1) मदन मोहन उपाध्‍याय (1) महावीर अग्रवाल (1) महाश्‍वेता देवी (1) रमेश गजानन मुक्तिबोध (1) रमेश नैयर (1) राकेश कुमार तिवारी (1) राजनारायण मिश्र (1) ललित सुरजन (1) विनोद वर्मा (1) विश्‍व (1) शकुन्‍तला वर्मा (1) श्‍याम सुन्‍दर दुबे (1) संजीव खुदशाह (1) संतोष कुमार शुक्‍ल (1) सतीश जायसवाल (1) सुरेश ऋतुपर्ण (1) हर्ष मन्‍दर (1)

संबंधित संग्रह